इस्तीफ़ा देने से पहले नीतीश की अंतरआत्मा का टेप लीक, मोदी जी की निकली वो आवाज़


28th July 2017 | CyberManch.com

नीतीश कुमार ने 24 घंटे के अंदर बिहार के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफ़ा भी दे दिया और फिर से शपथ भी ले ली। इस्तीफ़ा देने के बाद नीतीश बाबू ने कहा कि ये उन्होंने अपनी अंतरात्मा की आवाज़ के कहने पर किया है।  उनकी अंतरआत्मा ने क्या कहा और कब कहा, उसका टेप लीक हो गया है। उनकी अंतरात्मा में उस समय कौन बिराज रहे थे और क्या बोल रहे थे, आप भी सुनिये और पढ़िये-

अंतरआत्मा: मित्रों…. !!!!

नीतीश जीः हैं…कौन ??

अंतरआत्मा: मित्र, मैं तुम्हारी अंतरआत्मा!

नीतीश जीः पर तुम्हारी आवाज़ तो कुछ जानी-पहचानी सी लग रही है।

अंतरआत्मा: अरे…तुम्हारी अंतरात्मा हूँ, तुम्हें तो जानी-पहचानी लगूँगी ही!

नीतीश जी (थोड़े डाउट में): मगर ये आवाज़ तो किसी और की लग रही है???

अंतरआत्मा: अरे आवाज़ पे मत जाओ, अपनी अकल लगाओ मित्र! अरे नीतीश! कहाँ इस NEPOTISM के तबेले में फंसा है, इससे बहार निकल!

नीतीश जीः मगर सरकार गिर जाएगी मोदी जी.. सॉरी अंतरआत्मा जी!

अंतरआत्मा: वह सब तू मत सोच, तू बस मोदी की आवाज़ सुन! सॉरी…मतलब अपनी अंतरआत्मा की आवाज़ सुन।

नीतीश जीः मगर मुख्यमंत्री की कुर्सी?

अंतरआत्मा: हमारा साथ और तुम्हारा विकास!

नीतीश जी (थोड़ा मुस्कुराते हुए): और बिहार का विकास?

अंतरआत्मा: बिहार का विकास ! बताओ कितने पैसे चाहिये? पच्चास हज़ार करोड़…साठ हज़ार करोड़…!

नीतीश जीः अरे नहीं…नहीं!

अंतरआत्मा: सत्तर हज़ार करोड़!

नीतीश जीः ठीक है…ठीक है, मैं समझ गया!

अंतरआत्मा: 90 हज़ार करोड़!

अंतरआत्मा: ओके…ओके अंतरआत्मा भाई! अभी जाता हूँ और इस्तीफ़ा दे के आता हूँ!